नए वेबसाइट या Blog को Rank होने में कितना Time लगता है?

Sakshi
1
अक्सर ब्लॉग्गिंग के शुरूआती दिनों में ब्लॉगर के मन में यह ख्याल जरूर आता है कि नए Blog को Google में Rank होने में कितना Time लगता है.

एक ब्लॉगर जब नया ब्लॉग पोस्ट लिखता है, तो वह अपने कीवर्ड को बार-बार सर्च करके देखता है कि उसका ब्लॉग कौन सी Position में रैंक कर रहा है.

यदि आप जानना चाहते हैं कि ब्लॉग को रैंक होने में कितना टाइम लगता है तो लेख पर अंत तक बने रहें. आपका बिना समय गंवाए चलिए शुरू करते हैं Blog को Google में Rank होने में कितना Time लगता है पर यह महत्वपूर्ण लेख.

TOC

Blog को Rank होने में कितना Time लगता है

ब्लॉग को Google में रैंक करने में लगने वाला समय कई फैक्टर पर निर्भर करता है. इस सवाल का सटीक जवाब बड़े से बड़ा SEO Person भी नहीं दे सकता कि ब्लॉग कितने समय में Rank करेगा.

Google किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट को उसके Algorithm के आधार पर रैंक करवाता है. Google के पास 200 से भी ज्यादा Ranking Factors मौजूद हैं जिनके द्वारा वो किसी भी वेबसाइट को रैंक करता है.

नए वेबसाइट या Blog को Rank होने में कितना Time लगता है?

ये Algorithm सदैव Constant नहीं रहते हैं ये समय समय पर बदलते रहते हैं, समय-समय पर SEO की नयी-नयी अपडेट आते रहती है. और इन सभी factors के बारे में पूरी तरह से सिर्फ Google को ही पता होता है.

SEO की फील्ड इतनी Dynamic है कि इसमें हर सेकंड में बहुत तेजी से परिवर्तन होता है. अर्थात कोई साइट अभी अगर नंबर एक पर रैंकिंग कर रही है तो यह जरूरी नहीं है कि वह अगले सेकंड में भी नंबर एक पर ही बनी रहेगी, सर्च इंजन रिजल्ट पेज में हर एक सेकंड में बदलाव होते रहते हैं.

सीधे शब्दों में कहें तो Blog को Rank होने में कितना Time लगता है?, इस प्रश्न का कोई भी सटीक जवाब नहीं हो सकता है. ऐसे बहुत सारे फैक्टर होते हैं जो यह Decide करते हैं कि आपके Blog को Rank करने में कितना Time लगेगा. जैसे On Page SEO, Off Page SEO, डोमेन ऐज, कीवर्ड आदि.

लेकिन फिर भी हम कुछ रिसर्च के आधार पर यह समझने की कोशिश करेंगे कि Blog Post को Rank होने में कितना Time लगता है. तो चलिए समझते हैं कौन से हैं वे फैक्टर.

1- Domain Age (डोमेन की ऐज)

डिजिटल मार्केटिंग इंडस्ट्री की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक Ahrefs ने 2 बिलियन रैंडम कीवर्ड्स को चेक किया और पाया कि Top 10 में रैंक करने वाली वेबसाइटों की Domain Age लगभग 2 वर्ष की है. और जो वेबसाइट पहले नंबर पर रैंक कर रही हैं उनकी Domain Age लगभग 3 वर्ष या उससे अधिक है.

Ahrefs के इस अध्ययन के आधार पर कहा जा सकता है कि रैंकिंग में Domain Age एक महत्वपूर्ण कारक है. Domain Age के अलावा भी अनेक फैक्टर हैं जो किसी Blog या वेबसाइट को Rank करने में लगने वाले Time को निर्धारित करते हैं.

2- Keyword Difficulty (कीवर्ड कॉम्पिटिशन)

SEO के द्वारा वेबसाइट को रैंक कराने में कीवर्ड डिफिकल्टी एक महत्वपूर्ण फैक्टर है. यदि आप ऐसे कीवर्ड पर काम कर रहे हैं जिनमें बहुत कम कॉम्पिटिशन है या बिल्कुल भी कॉम्पिटिशन नहीं है तो ऐसे में आप आसानी से 3 या 4 महीने के अन्दर ब्लॉग वेबसाइट को रैंक करवा सकते हैं.

लेकिन अगर आप ऐसे कीवर्ड्स पर काम कर रहे हैं जिनमें कॉम्पिटिशन बहुत ज्यादा है और पहले से ही कई हाई अथॉरिटी वेबसाइट्स SEO के जरिए उस कीवर्ड्स पर रैंक कर रही हैं तो ऐसे में आपके Blog को Rank करने में 2 साल या इससे अधिक Time लग सकता है.

इसलिए आपको Blog में हमेशा Keyword Research करके ही Article लिखना चाहिए.

3- Your Competitor (आपके प्रतियोगी)

जिस कीवर्ड पर आप अपने ब्लॉग वेबसाइट को रैंक करवाना चाहते हैं उस कीवर्ड को गूगल पर सर्च करके देखें कि कौन कौन सी साइट उस कीवर्ड पर रैंक कर रही हैं. आप Top 10 वेबसाइट को Analyze करके देखें कि उन्होंने लेख कैसे लिखा है, उनकी डोमेन ऐज कितनी है, बैकलिंक कहाँ से बनाए हैं आदि.

यदि आपके प्रतिस्पर्धियों ने बहुत ही स्ट्रोंग काम किया है यानी उन्होंने अपनी साइट पर बहुत ही अच्छे ढंग से On Page SEO किया है, Quality कंटेंट लिखा है, Quality Backlink बनाए हैं, उनका Technical SEO एकदम Perfect है और वह एक हाई अथॉरिटी वेबसाइट है तो ऐसी वेबसाइट को Beat करने में बहुत अधिक समय लग सकता है.

लेकिन जिस कीवर्ड पर आप रैंक करना चाहते हैं यदि उस पर ऐसी वेबसाइटें रैंक कर रही हैं जो बहुत पुरानी नहीं है, और उनका कंटेंट ज्यादा सही नहीं है और उनका SEO भी बहुत अच्छा नहीं है तो आप एक अच्छी गुणवत्ता वाला कंटेंट लिखकर तथा थोड़े बहुत SEO Effort के द्वारा उन वेबसाइट को Beat कर सकते हैं और उस Particular कीवर्ड पर अपनी साइट को रैंक करवा सकते हैं.

4- SEO Skill (स्किल)

वेबसाइट की रैंकिंग में आपकी स्किल भी बहुत मायने रखती है. यदि आपको SEO करना ही नहीं आता है तो ऐसे में आप शायद ही अपनी साइट को रैंक करा सकते हैं. इसलिए आपके पास SEO स्किल्स भी होनी चाहिए.

जब तक आप अपनी वेबसाइट को रैंक नहीं करा लेते तब तक आपको हमेशा नए नए Method अपनाने पड़ते हैं, अच्छी वेबसाइटों से High Quality बैकलिंक बनाने होते हैं. इन सभी कार्यों के लिए स्किल की ही जरुरत पड़ती है.

ये थे कुछ बेसिक फैक्ट्स जिनसे आपको अपने सवाल का जवाब मिल गया होगा कि Blog को Rank होने में कितना समय लगता है? इसके अलावा भी बहुत से फैक्टर हो सकते हैं जो वेबसाइट को रैंक होने में लगने वाले समय को निर्धारित करते हैं.

हिंदी Blog को Rank होने में कितना Time लगता है?

वर्ष 2010-11 में जब हिंदी ब्लॉग्गिंग की शुरुआत हुई थी तो उस समय हिंदी भाषा में बहुत कम ब्लॉग लिखे जाते थे, इसलिए हिंदी ब्लॉग्स को बहुत ही कम समय में अच्छी रैंकिंग मिल जाती थी.

आज के समय में हिंदी ब्लॉगिंग के क्षेत्र में बहुत प्रतिस्पर्धा बढ़ गई है, हर दिन कई नए ब्लॉग पब्लिश किए जा रहे हैं लेकिन फिर भी इंग्लिश ब्लॉग की तुलना में हिंदी ब्लॉग को रैंक करने में कम समय लगता है.

अगर आप नियमित रूप से कंटेंट पब्लिश करते हैं और ब्लॉग का SEO अच्छे से करते हैं तो आप एक साल के अंदर अपने ब्लॉग को रैंक करा सकते हैं.

यह लेख भी पढ़ें -
        • Content क्या है
        • नए ब्लॉग को प्रमोट कैसे करें
        • Google Sandbox क्या है
        • ब्लॉग ट्रैफिक कैसे बढ़ाएं
        • ब्लॉग को 1st पेज में Rank कैसे करें

निष्कर्ष : Blog को Rank होने में कितना Time लगता है

आपको शुरुआत में Low Competition कीवर्ड्स पर काम करना चाहिए जिससे आपका ब्लॉग कम समय में ही रैंक होने लगे. इसके साथ ही आप High Quality Content पब्लिश करते रहें यदि लोग आपके Content को पसंद करते हैं और आपकी Website पर बने रहते हैं, तो इसका फायदा आपको Ranking में मिलता है.

उम्मीद है कि आपको Blog को Google में Rank होने में कितना Time लगता है? लेख पसंद आया होगा. आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर करें.

एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें