SSL Certificate Kya Hai, इसके प्रकार तथा इसे कहां से खरीदें

Sandeep
5
जब हम Internet पर कोई वेबसाइट Open करते हैं, तो हमें अक्सर अपनी Email ID के जरिए Login करना पड़ता है या ऑनलाइन शॉपिंग के दौरान अपने बैंक की सारी डिटेल्स देनी होती हैं, शायद आपने भी कभी न कभी ये काम जरूर किया होगा.

लेकिन कभी - कभी आप सोचते होंगे कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी पूरी तरह से Safe रहेगी या नहीं, इसका दुरुपयोग तो नहीं किया जाएगा, आज आपके इन्हीं सवालों के जवाब देने के लिए यह लेख लिखा गया है, कृपया इस लेख में अंत तक बने रहें.

इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद जब भी आप अपनी कोई भी जानकारी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर शेयर करें तो आर्टिकल में बताई गई बातों को जरूर ध्यान में रखें ताकि आप निश्चिंत हो सकें कि जो जानकारी आप दे रहे हैं वह सुरक्षित है या नहीं.

यदि आप ब्लॉगिंग करते हैं या SEO के क्षेत्र में काम करते हैं, तो भी यह लेख आपके लिए बहुत Valuable होने वाला है क्योंकि इस लेख में आप जानेंगे कि SSL Certificate SEO में कितना महत्वपूर्ण है और SSL का उपयोग करने से हमारी वेबसाइट की रैंकिंग पर क्या प्रभाव पड़ता है.

इस आर्टिकल में हमने SSL सर्टिफिकेट के महत्व को एक इंटरनेट यूजर और ब्लॉगर के दृष्टिकोण से बताया है, इस लेख को अंत तक पढ़ना बेहद महत्वपूर्ण है ताकि आप SSL Certificate Kya Hai के बारे में बेहतर जानकारी प्राप्त कर सकें.

तो चलिए शुरू करते हैं इस महत्वपूर्ण लेख को और जानते हैं SSL Certificate Kya Hai विस्तार से.

TOC

SSL की फुल फॉर्म (SSL Full Form in Hindi)

SSL का Full Form Secure Sockets Layer होता है, जिसको हिन्दी में सुरक्षित सॉकेट लेयर कहते हैं.

SSL सर्टिफिकेट क्या है (What is SSL Certificate in Hindi)

SSL इंटरनेट पर उपयोग किया जाने वाला एक एन्क्रिप्शन प्रोटोकॉल है जो वेबसाइटों और ब्राउज़रों के बीच एक सुरक्षित कनेक्शन प्रदान करता है और यूजर्स को वेबसाइटों के साथ अपने निजी डेटा को सुरक्षित रूप से साझा करने की अनुमति देता है.

SSL Certificate Kya Hai

जब भी आप किसी भी वेबसाइट को Open करते हैं तो आपको वेबसाइट की शुरुआत में http और https लिखा हुआ मिलता है, जो वेबसाइटें https के साथ Open होती हैं वे SSL सर्टिफिकेट का उपयोग करती हैं और पूरी तरह सुरक्षित होती हैं.

जब भी आप किसी सुरक्षित वेबसाइट पर जाते हैं, तो आप अपनी ईमेल आईडी, बैंक डिटेल्स या अन्य व्यक्तिगत जानकारी को बेफ़िक्र हो कर के साझा कर सकते हैं, आपके द्वारा प्रदान की गई जानकारी पूरी तरह से सुरक्षित होती है.

इसे सारांश में कहें तो, SSL Certificate एक सुरक्षित वेबसाइट की पहचान का काम करता है और आपको इंटरनेट पर सुरक्षित रूप से जानकारी साझा करने में मदद करता है.

SSL Certificate का उदाहरण (SSL Example in Hindi)

जैसे कि यह हमारी वेबसाइट https से खुल रही है तो इसका मतलब है कि यहां SSL सर्टिफिकेट इंस्टॉल है, इसलिए आप बिना किसी सुरक्षा चिंता के ऐसी किसी भी वेबसाइट पर अपनी E-Mail Id, Bank Details आदि दे सकते हैं क्योंकि यह पूरी तरह से सुरक्षित है. 

जब किसी वेबसाइट के पास SSL Certificate होता है तो वेबसाइट का एड्रेस बार नीचे दी गई इमेज जैसा दिखता है.
Website With SSL Certificate
वहीं, अगर कोई वेबसाइट http में Open होती है, तो इस प्रकार की वेबसाइट सुरक्षित नहीं होती है, इस तरह की Websites में आपको http से पहले Non-secure लिखा हुआ मिलेगा, यदि आप ऐसी वेबसाइटों पर अपनी निजी जानकारी देते हैं तो आप खतरे में पड़ सकते हैं.

जब किसी वेबसाइट के पास SSL Certificate नहीं होता है तो वेबसाइट का एड्रेस बार नीचे दी गई इमेज जैसा दिखता है.
Website Without SSL Certificate

SSL Certificate की परिभाषा (Definition of SSL Certificate)

SSL Certificate एक ऐसा माध्यम है जो इंटरनेट यूजर को अपनी पर्सनल इनफार्मेशन किसी वेबसाइट के साथ सुरक्षित रूप से साझा करने की अनुमति देता है.

तकनीकी रूप से कहें तो, SSL एक एन्क्रिप्शन प्रोटोकॉल है, जो इंटरनेट पर डेटा को सुरक्षित रूप से ट्रांसफर करने में मदद करता है, यह एक छोटी डेटा फ़ाइल होती है, जब SSL को किसी Server में Install किया जाता है तो यह ब्राउज़र और वेबसाइट के बीच कनेक्शन को सुरक्षित बनाता है.

SSL का उपयोग मुख्य रूप से Online Transactions, Data Communication और Login Details को Secure बनाने के लिए किया जाता है, जिससे Personal Data, Financial Information या अन्य संवेदनशील जानकारी को सुरक्षित रूप से साझा करने में मदद मिलती है.

SSL Certificate के प्रकार (Types of SSL Certificate in Hindi)

SSL Certificate कई प्रकार के हो सकते हैं पर इस लेख में हमनें आपको 4 मुख्य SSL Certificate के बारे में बताया है.

1. Single Domain SSL Certificate

यह केवल एक डोमेन के लिए होता है और उसी डोमेन पर ही इंस्टॉल किया जा सकता है, यदि आप सबडोमेन्स बनाते हैं तो उन पर इस SSL को Install नहीं कर सकते हैं, मतलब Single Domain SSL केवल डोमेन नाम पर ही Install किया जा सकता है.

2. Multi Domain SSL Certificate

इसे आप अपने डोमेन के साथ - साथ सबडोमेन पर भी इनस्टॉल कर सकते हैं, इसके अलावा अगर आपकी वेबसाइट के अलग - अलग Version हैं तो आप उन सभी पर Multi Domain SSL Certificate एक्टिवेट कर सकते हैं.

3. Organization Validation (OV) SSL Certificate

इस प्रकार के SSL का उपयोग बिज़नेस वेबसाइट को सुरक्षित करने के लिए किया जाता है, जिससे कस्टमर को अपनी Personal Details देने में कोई परेशानी न हो.

4. Extended Validation (EV) SSL Certificate

यह SSL भी बिजनेस के लिए ही है, इस प्रकार के SSL का Use बिजनेस वेबसाइटों के लिए किया जाता है, इनके एड्रेस बार में हरा रंग और साथ में बिजनेस का नाम भी दिखाई देता है, यह बहुत ही उच्च स्तरीय SSL है जो अत्यधिक सुरक्षा प्रदान करता है.

http और https में अन्तर

अब तक आपने जाना कि SSL Certificate Kya Hai, अब http और https के बीच अन्तर को भी समझ लेते हैं.

http (Hypertext Transfer Protocol)

• वेबसाइट का URL http:// से शुरू होता है.

• http के साथ Open होने वाली वेबसाइट असुरक्षित होती हैं.

• http में TLS सर्टिफिकेट नहीं होता है.

• http Encrypted नहीं होता है.

• OSI नेटवर्क मॉडल के एप्लीकेशन लेयर पर काम करता है.

• http पोर्ट नंबर 80 पर काम करता है.


https (Hypertext Transfer Protocol Secure)

• वेबसाइट का URL https:// से शुरू होता है.

• https के साथ Open होने वाली वेबसाइट सुरक्षित होती है.

• https में TLS सर्टिफिकेट भी होता है.

• https पूरी तरह से Encrypted होता है.

• OSI नेटवर्क मॉडल के ट्रांसपोर्ट लेयर पर काम करता है.

• https पोर्ट नंबर 443 पर कम करता है.


यदि आप Blogger या SEO Person हैं, तो नीचे दी गई जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण है और यदि आप ये दोनों ही नहीं हैं, तो भी आप नीचे दी गई जानकारी को पढ़ सकते हैं.

SEO के नजरिए से SSL Certificate

SSL सर्टिफिकेट SEO में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, Google और अन्य सर्च इंजन SSL सर्टिफिकेट इनस्टॉल वेबसाइटों को प्राथमिकता देते हैं और इनकी रैंकिंग में सुधार होता है.

जबकि बिना SSL वाली वेबसाइटों की रैंकिंग गिर सकती है, इसलिए नया ब्लॉग शुरू करते समय SSL Certificate को इनस्टॉल करना SEO में महत्वपूर्ण होता है.

SSL Certificate कहाँ से खरीदें 

आजकल Market में कई ऑनलाइन कंपनियाँ हैं जो SSL Certificate प्रदान करती हैं, जैसे Bigrock, Comodo, DigiCert, GoDaddy, RapidSSL आदि.

अगर आप Google के Blogger.com पर ब्लॉगिंग कर रहे हैं तो आपको SSL सर्टिफिकेट खरीदने की जरूरत नहीं है, क्योंकि Google यह सेवा Free में प्रदान करता है.

यदि आपकी वेबसाइट WordPress पर होस्ट की गई है, तो आपकी Hosting कंपनी आपको SSL Certificate प्रदान कर सकती है, आजकल अधिकांश होस्टिंग कंपनियाँ फ़्री में SSL Certificate की सुविधा प्रदान करती हैं.

FAQ For SSL Certificate in Hindi

प्रश्न - SSL का पूरा नाम क्या है?
उत्तर - SSL का पूरा नाम Secure Socket Layer है.

प्रश्न - http और https के बीच क्या अंतर है?
उत्तर - https किसी भी वेबसाइट और ब्राउज़र के कनेक्शन को सुरक्षित बनाता है, जबकि http ऐसा नहीं करता है.

प्रश्न - क्या हमें बिना Https वाली वेबसाइट में अपनी पर्सनल डिटेल देनी चाहिए?
उत्तर - नहीं, हमें ऐसी वेबसाइट में अपनी पर्सनल डिटेल कभी नहीं देनी चाहिए जो Without Https के हो.

यह लेख भी पढ़ें -

निष्कर्ष: SSL Certificate Kya Hai

इस लेख में आपने जाना कि SSL Certificate Kya Hota Hai और यह क्यों जरूरी है, जब भी आप किसी वेबसाइट पर जाएं तो अपनी निजी जानकारी साझा करने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि वेबसाइट में SSL है या नहीं.

या फिर अगर आप एक Blogger हैं तो अपनी वेबसाइट में SSL जरूर इंस्टॉल करें ताकि आपको इससे Ranking में फायदा मिल सके.

उम्मीद हैं कि आपको SSL Certificate Kya Hai लेख पसंद आया होगा, लेख को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें.

एक टिप्पणी भेजें

5 टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें